Podcast PuliyaBaazi

ज़िन्दगी की चाबी

This is Episode 36 of PuliyaBaazi, a fortnightly podcast hosted by Pranay Kotasthane and Saurabh Chandra.

 

कुछ ही महीनों पहले चीन के एक वैज्ञानिक ने जीनोम-एडिटिंग का उपयोग कर जुड़वां बच्चियाँ बनाकर पूरे जगत को हिला दिया | जीन एडिटिंग ने ‘कुदरत बनाम परवरिश’ विवाद को एक नया आयाम दे दिया है | तो इस बार पुलियाबाज़ी पर लेकर आए हैं हम एक वैज्ञानिक को जीन्स, जीन एडिटिंग के बारे में विस्तार से चर्चा करने के लिए | हमारी गेस्ट है शांभवी नाईक, जो एक कैंसर बायोलॉजिस्ट हैं और तक्षशिला इंस्टीटूशन में रिसर्च फेलो हैं | हमने उनसे जीवशास्त्र से जुड़े कई सवालों पर चर्चा की:

  1. जीन्स क्या होते हैं? उनका एक कोशिका में उपयोग क्या है? क्या जीन्स सच में ‘स्वार्थी’ होते हैं?

  2. युजेनिक्स ने जीन शोध का किस प्रकार दुरुपयोग किया?

  3. जीन एडिटिंग क्या है? इसके फायदे क्या हैं?

  4. जीन एडिटिंग पर सरकारी नीतियाँ कैसे तय की जानी चाहिए?

Rapid advances in gene editing techniques have given a fresh impetus to the ‘nature vs nurture’ debate. So in the next edition of Puliyabaazi, we brought in  a science policy researcher for an in-depth chat on genes, genetics, and the genetic revolution. Our guest is Shambhavi Naik, a Fellow at the Takshashila Institution. We discussed these topics and more in this episode:

  1. What are genes? How do gene expression pathways work?

  2. Can genes be linked to racial identity?

  3. How has gene sequencing changed our understanding of heredity and human history?

  4. What is gene editing and why is everyone talking about this? Is this the same as cloning?

  5. Will gene editing lead to the same eugenics race we saw in the 1920-1940s? Will we have superhumans roaming on earth?

  6. How should India govern gene editing?

Listen in!

Twitter: https://twitter.com/puliyabaazi

Facebook: https://www.facebook.com/puliyabaazi

Instagram: https://www.instagram.com/puliyabaazi/

Subscribe & listen to the podcast on iTunes, Google Podcasts, Castbox, AudioBoom, YouTube or any other podcast app.

Please share

About the author

Pragati Staff

Pragati Staff is the best staff ever. I mean, we've seen a lot of staff, and let us tell you this, this is THE BEST. Haters will hate. SAD.